वायरल न्यूज़ सहारा रिफंड पोर्टल: आरटीआई से आया सामने, एक बड़ा धोखा?

सहारा रिफंड पोर्टल: वायरल न्यूज़ की छानबीन करने पर यह पाया गया कि आरटीआई के अनुसार, इस पोर्टल के माध्यम से अब तक कुल 0.27% दावों का ही भुगतान हो पाया है। .. पूरी खबर आगे पढ़ें..

वायरल न्यूज़ सहारा रिफंड पोर्टल: आरटीआई से आया सामने, एक बड़ा धोखा?

सहारा में अपने पैसे फंसाए लाखों निवेशकों को अभी तक कोई राहत नहीं मिली है, जबकि रिफंड के लिए ऑनलाइन पोर्टल शुरू हुए कई महीने हो चुके हैं. एक आरटीआई से पता चला है कि पोर्टल के माध्यम से अब तक सिर्फ 27% दावों का ही भुगतान किया गया है. यह आंकड़ा इस बात को दर्शाता है कि सरकार के दावे खोखले हैं और निवेशकों को अपना पैसा वापस मिलने में अभी भी लंबा समय लगेगा |

सिर्फ इतने का ही हुआ भुगतान

सहारा निवेशकों के 82,695.51 करोड़ रुपये के दावों में से सिर्फ 228.77 करोड़ रुपये का भुगतान हुआ है। यह भुगतान सीआरसीएस पोर्टल के माध्यम से किया गया है। आरटीआई के अनुसार, इस पोर्टल के माध्यम से अब तक कुल 0.27% दावों का ही भुगतान हो पाया है।

सहारा निवेशकों के लिए जुलाई में राहत: पोर्टल शुरू हुआ!

सहारा रिफंड पोर्टल को लॉन्च हुए लगभग 6 महीने हो चुके हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पिछले साल 18 जुलाई को सहारा के निवेशकों को उनके पैसे वापस दिलाने के लिए इस पोर्टल की शुरुआत की थी। पोर्टल के माध्यम से फिलहाल सहारा की चार सहकारी समितियों – सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड, सहारयन यूनिवर्सल मल्टीपर्पस सोसायटी लिमिटेड, हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड और स्टार्स मल्टीपर्पस कोऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड – के निवेशक रिफंड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

अब तक इतने निवेशकों ने किया रजिस्टर

सूचना का अधिकार कानून के तहत आरटीआई कार्यकर्ता आकाश गोयल ने सहारा रिफंड पोर्टल से संबंधित जानकारी मांगी. जवाब में बताया गया कि पोर्टल पर अब तक 1.6 करोड़ से अधिक निवेशकों ने रजिस्ट्रेशन कराया है. इन निवेशकों ने कुल 82,695.51 करोड़ रुपये के रिफंड के लिए दावा किया है, जिनमें से केवल 228.77 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है.

रिसबमिशन के इतने दावे का भुगतान

सहारा रिफंड पोर्टल के माध्यम से जमा किए गए 52,113 दावों में से 52.19 करोड़ रुपये के 3.13 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। यह फिर से जमा किए गए दावों का लगभग 6 प्रतिशत है। यह राशि अभी भी काफी कम है, और सहारा निवेशकों को उनके पैसे के लिए लंबे समय से इंतजार करना पड़ रहा है।

दिया है सरकार ने ये भरोसा

सहारा के संस्थापक सुब्रत रॉय के निधन के बाद, सरकार ने निवेशकों को भरोसा दिलाया है कि उन्हें उनकी पूरी रकम वापस मिलेगी। वर्तमान में, छोटे-छोटे दावों का निपटान किया जा रहा है। जल्द ही, सरकार अतिरिक्त धनराशि जारी करने के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएगी।

ये भी पढ़ें: Sahara India Refund Claim: सहारा इंडिया निवेशकों का पैसा आ रहा है, ऑफिस जाकर करें क्लेम

Leave a Comment